बंद करे

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम

| सेक्टर: सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम विभाग

योजना से सम्बंधित जानकारी

यह केन्द्र प्रवर्तित योजना है। योजनांतर्गत सभी वर्ग के हितग्राहियों को बैंक से सुगमता पूर्वक ऋण प्राप्त हो सके इस उद्देश्य से योजना दिनांक 01.08.2008 से प्रारंभ की गई। योजना का उद्देश्य समाज के सभी वर्गो के लिए स्वयं का उद्योग/ सेवा हेतु उद्यम स्थापित करने हेतु बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराना। इस योजना के तहत हितग्राहियों को नियमानुसार मार्जिन मनी अनुदान देने का प्रावधान है।

योजना का लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया / विधि

  1. योजनांतर्गत सभी वर्ग के हितग्राहियों को निर्धारित प्राप्त में जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र में आवेदन करना होगा।
  2. सभी आवेदन पंजीबध्द किये जायेंगे।
  3. कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक आयोजित की जाती है।

योजना का लाभ प्राप्त करने के शर्तें

खादी ग्रामोद्योग आयोग तथा खादी ग्रामोद्योग बोर्ड ग्रामीण क्षेत्रों के लिये एवं जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के लिये क्रियान्वयन किया जाता है।

 

  1. मध्यप्रदेश का मूल निवासी होने का प्रमाण-पत्र हो।
  2. विनिर्माण क्षेत्र में रू. 10.00 लाख और सेवा क्षेत्र में रू. 5.00 लाख से अधिक लागत वाली परियोजनायें स्थापित करने के लिये लाभार्थी की न्यूनतम शैक्षाणिक योग्यता 8 वीं कक्षा उत्तीर्ण का प्रमाण-पत्र हो।
  3. 18 वर्ष से अधिक आयु का प्रमाण-पत्र हो।
  4. राशन कार्ड अथवा मतदाता परिचय पत्र की छाया प्रति संलग्न हो।
  5. भूमि या भवन स्वयं का न हो तो किराया नाम
  6. जिस प्रयोजन हेतु आवेदक आवेदन करेगा उसका परियोजना प्रतिवेदन संलग्न हो।
  7. रोजगार कार्यालय का जीवित पंजीयन प्रमाण-पत्र संलग्न हो।

अधिक अद्यतन जानकारी के लिए, कृपया संबंधित विभाग में संपर्क करें।

 

लाभार्थी:

मध्यप्रदेश का मूल निवासी

लाभ:

समाज के सभी वर्गो के लिए स्वयं का उद्योग/ सेवा हेतु उद्यम स्थापित करने हेतु बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराना

आवेदन कैसे करें

योजनांतर्गत सभी वर्ग के हितग्राहियों को निर्धारित प्राप्त में जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र में आवेदन करना होगा